Latest News

Visitor Counter
455844892

डिजिटल इंडिया का...

You Are Here :
> > > >
डिजिटल इंडिया का...

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का डिजिटल वित्तीय साक्षरता पर पड़ने वाले प्रभाव का विष्लेषणात्मक अध्ययन

Author Name : नमिता शर्मा, सुबोध कुमार

आधुनिक युग में डिजिटल वित्तीय साक्षरता का अर्थ है डिजिटल माध्यमों से धन का उचित समय पर उपयोग करना है।  डिजिटल वित्तीय साक्षरता की आवश्यकता इसलिए है क्योंकि यह आधुनिक युग की अनिवार्यता बन चुका है वर्तमान परिवेश में जहां मानवीय आवश्यकता में आमूलचूल परिवर्तन आया है वही लेनदेन के माध्यम भी बदले हैं इस परिवर्तनशील युग में डिजिटल इंडिया में लेनदेन को शुद्ध सुविधाजनक बनाया गया है, सामाजिक स्तर पर लोगों को डिजिटल वित्तीय साक्षरता के लिए एक अलग कदम उठाने की आवश्यकता है इसके साथ ही साथ सरकारी एजेंसी शैक्षणिक संस्थाएं और सामाजिक कार्यकर्ताओं तथा स्वैच्छिक संगठनों को भी डिजिटल वित्तीय साक्षरता की जिम्मेदारी लेने की जरूरत है। प्रस्तुत शोध में यह प्रयास किया गया है की डिजिटल वित्तीय साक्षरता से समाज को अवगत कराया जाए । अध्ययन के दौरान पाया गया है कि बहुत ही कम विक्रेता डिजिटल लेनदेन का प्रयोग करते हैं प्रस्तुत शोध में पूर्ण प्रयास किया गया है कि महिलाएं और छोटे विक्रेताओं को डिजिटल वित्तीय साक्षरता से अवगत कराकर आत्मनिर्भर बनाया जाये।